Friday, March 24, 2017

Complaint Lodged Against Sagarika Ghose at Lucknow Police For Malicious Tweet Against Yogi Adityanath



मा.मुख्यमंत्रीजी के संदर्भ मी बदनामी के खिलाफ शिकायत पत्र.

प्रति:- मा. पुलिस अधीक्षक, लखनौ- उत्तर प्रदेश,

विषय:- मा. योगी आदित्यनाथ जी- मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश के बारे में सहेतु गलत और आपत्तिजनक जानकारी फ़ैलाने हेतु पत्रकार सागरिका घोष पर FIR दाखिल करने के संदर्भ में

महोदय,
 राज्य के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री मा. योगी आदित्यनाथ जी समाज में एक बेहद सम्मानित और उच्चपदस्थ व्यक्तित्व है. पिछले कई सालोंसे वे राजनीति में सक्रीय है. लेकिन पत्रकार श्रीमती. सागरिका घोष, जो टाइम्स ऑफ़ इण्डिया में वरिष्ठ संपादक के पद पर कार्यरत है, तथा विभिन्न टीवी चैनलोमें भी सदा सक्रीय रहती है, उन्होंने योही आदित्यनाथ जी की बदनामी करने तथा उनकी छवि धूमिल करने हेतु Twitter पर कुछ आपत्तिजनक चीजे डाली. बाद में इन्होने स्वयं इन चीजोंको हटा कर सफाई दे डाली, किन्तु तब तक योगी जी की छवि को जो नुकसान होना था वो हो चूका था.
सबसे पहले इन्होने जो चीज डाली वो तो अभी उपलब्ध नहीं है, लेकिन इस लिंक पर उसली छवि उपलब्ध है. https://twitter.com/rajalakshmij/status/843192449216401409 जिसमे उन्होंने दावा किया है की योगी आदित्यनाथ जी ने मृत मुस्लिम महिलाओंपर भी बलात्कार करने की हिमायत की.
बाद में जब लोगोने इसकी निंदा शुरू की तब जाकर उन्होंने अपनीही बात से पलट कर इस लिंक पर कहा https://twitter.com/sagarikaghose/status/843146510963372033 की एक व्यक्ति ने योगी जी जिस मंच पर विराजमान थे उसी मंच से ये बात कही.
इससे पहले भी सागरिका घोष जी ऐसे निंदनीय कृत्य करते हुए पकड़ी गयी है.
इसलिए, इसी आवेदन के साथ मै आपसे करबद्ध निवेदन करता हु, की सम्बंधित पत्रकार सागरिका घोष जी के खिलाफ IT Act-2000, तथा अफवाह फैलाना और सांप्रदायिक तनाव फ़ैलाने के संदर्भ में उचित IPC की अलग अलग समुचित धाराओंके अंतर्गत प्राथमिकी दर्ज कर के (FIR) कठोर से कठोर करवाई की जाए, ताकि ऐसी गलती फिर से दोहराने की हिम्मत ना हो.

भवदीय,
*****
Legal Rights Observatory



Post a Comment